Breaking News

sciatica pain क्या है इसके कारण

sciatica pain क्या है इसके कारण

साइटिका दर्द क्या है इसके कारण : Sciatica in Hindi


साइटिका दर्द क्या होता है. यह किन कारणों से हो सकता है. और यह कहां पर होता है. क्योंकि यह पीठ दर्द घुटने दर्द या साइटिका दर्द लोगों में लगभग आज के समय में आम बीमारी बनी हुई है. और हर किसी को इस तरह की दिक्कत मिल जाएगी और उसके लिए वह बहुत पैसा खर्च कर देते हैं. और फिर भी उनका इलाज नहीं होता है. क्योंकि उन चीजों के बारे में उन्हें पूरी जानकारी नहीं होती है. इसलिए उनका इलाज सही से नहीं होता है. क्योंकि अगर हमें किसी भी तरह की दिक्कत है.


उसके बारे में हमें पूरी जानकारी नहीं होगी तो हमारा इलाज होना बहुत ही कठिन है. क्योंकि हम उस समस्या की जड़ तक नहीं पहुंच पाते हैं. इसलिए अगर वह ठीक हो भी जाती है. तो कुछ समय बाद फिर से हो जाती है तो मैं आपको साइटिका दर्द के कुछ ऐसे लक्षण और उसके कारण बताऊंगा. जिससे किसाइटिका दर्द होता है यह जानकारी आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगी. तो आप इस जानकारी को अच्छी तरह से और ध्यान से पढ़ें तो देखिए.

साइटिका क्या है


शायद आपने साइटिका का नाम तो बहुत कम ही सुना होगा लेकिन यह एक आम समस्या होती है. क्योंकि साइटिका एक प्रकार का दर्द का नाम ही है. साइटिका उसे कहते हैं. जब किसी भी तरह का दर्द हमारी रीढ़ की हड्डी के निचले भाग से दर्द शुरू होकर हमारे कुल्हे से होकर पैर की तरफ से होता हुआ पैर की उंगलियों तक जाता है और उस दर्द को साइटिका कहते हैं. क्योंकि आज के समय में एक आम समस्या बनी हुई है. बहुत से लोगों को दर्द को साइटिका होता है और उनको पता नहीं चलता है. कि यह क्या है. तो साइटिका दर्द के लक्षण क्या होते हैं. उनके बारे में मैं आपको नीचे बता रहा हूं.
साइटिका के लक्षण

साइटिका का दर्द मुख्य रूप से ज्यादातर आपकी रीड की हड्डी के निचले हिस्से से जहां पर रीड की हड्डी और कुल्हे की हड्डी का जोड़ होता है ज्यादातर यह दर्द वहां से शुरू होता है. और वहां से शुरु होकर यह कुल्हे के बीज से होते हुए जांघ और पैर में से होकर पैर की उंगलियों तक पहुंचता है ज्यादातर यह दर्द एक तरफ ही होता है. यानी कि एक ही पैर में ही है दर्द ज्यादातर देखा गया है. लेकिन बहुत कम लोगों को यह दर्द दोनों पैर में होता है. और जब आप बैठते हैं तो उस समय में यह दर्द बहुत ज्यादा हो जाता है.


इस दर्द मैं आपको जलन होने लगती है. या तो आपके पैर में जलन होगी या आपके कुल्ले में जलन होगी. और ज्यादातर लोगों के जब साइटिका दर्द होता है. तो उनके जिस पैर में यह दर्द है. उस पैर में कई बार सुन्न होने जैसी दिक्कत आ जाती है. या वह पैर कमजोर हो जाता है. और उसमें जब आप एकदम से उठकर चलते हैं. तो आपको दिक्कत होने लगती है. तो यह सबसे ज्यादा बढ़ा साइटिका दर्द का लक्षण है. क्योंकि आपके पैर में एकदम से जब यह दर्द होता है. तो आपको उठने बैठने में भी दिक्कत होती है.

साइटिका के कारण


हमारे शरीर में एक भी Degenerative Disc Dsease होता है उसके कारण भी हो जाता है. और यह हमारे शरीर में स्पोंडिलोलिस्थीसिस उसके कारण भी हो सकता है. और ज्यादातर यह इसी के कारण ही होता है. और सबसे ज्यादा महिलाओं में साइटिका दर्द तब होता है. जब महिला गर्भवती होती है. ऐसा बहुत बार होता है. कि जब महिलाएं गर्भवती होती है. तो उनको यह दर्द होता है. और यह जब शिशु का जन्म होता है तो उसके बाद लगभग खत्म हो जाता है यह थोड़े दिन का ही होता है. ज्यादातर देखा गया है. कि जो लोग मोटे हैं. उनमें साइटिका दर्द पाया जाता है. और यह दर्द मोटापे के कारण बहुत ज्यादा होता है. क्योंकि उनका वजन बहुत ज्यादा होता है. जिसके कारण कि हमारे रीड की हड्डी पर जोर पड़ता है. और कई बार हमारे रीड की हड्डी में जब कोई चोट लग जाती है. जैसे कि मान लो अगर आप का एक्सीडेंट हो गया है.

उसमें कई बार आपको चोट लग जाती है. या आपको कोई ऐसी ही साधारण चोट लग गई है. तो भी आपको साइटिका का दर्द होने लगता है. और यह साइटिका दर्द का मुख्य कारण होता है. कि जब आप की रीड की हड्डी में किसी भी तरह की चोट है. तो आपको यह दर्द बहुत ज्यादा बार होता है. और वैसे तो बहुत कम चांस है. लेकिन अगर आपकी रीड की हड्डी में कैंसर है. तो भी आपको यह दर्द होने लगता है. क्योंकि इसके चलते दबाव या कंप्रेशन होता है. जिसके कारण यह दर्द होता है. या हम काफी ऊंचे जूते सैंडल पहनते हैं उसके कारण भी यह दर्द हमें होता है. उसमें तो यह सामान्य सी बात है. क्योंकि उनके पैर का दबाव सही से समतल जगह पर नहीं रहता है. जिसके कारण हमारे शरीर की मांसपेशियां की जाती है. और यह सीधा सा असर हमारे रीड की हड्डी के और कूल्हे के जोड़ पर पड़ता है. जहां से यह दर्द पनपना शुरू हो जाता है. और जो लोग बहुत ही सॉफ्ट और बिल्कुल नरम गद्दे के ऊपर सोते हैं. उन्हें भी साइटिका का दर्द लगभग सामान्य रूप से होना संभव है.

साइटिका का इलाज


साइटिका दर्द का पता लगाने के लिए हमें डॉक्टर के पास जाकर हमारी बॉडी का एमआरआई स्कैन सीटी स्कैन व एक्सरे करवाना चाहिए इससे हमारे दर्द के बारे में पूरी जानकारी हमें मिल जाएगी कि यह दर्द कहां से शुरू हुआ है. और कहां तक हो रहा है. और Nerve Conduction Studies के द्वारा भी इस दर्द का पता लगाया जा सकता है. साइटिका दर्द से राहत पाने के लिए इस दर्द को कम करने के लिए दवाइयों का इस्तेमाल कर सकते हैं. जैसे आइबूप्रोफेन क्रोसिन ले सकते हैं. और ओरल स्टेरॉयड भी कई बार ले सकते हैं. क्योंकि यह जो हमारे दर्द में कंप्रेशन या दबा होता है. उसको कम करने में हमारी मदद करता है. फिजियोथेरेपी भी हमारी इस दर्द को कम करने में काफी मदद करते हैं. और आखिर में सर्जरी की जाती है. ऐसे तो बहुत ही कम चांस होते हैं. कि साइटिका के दर्द के लिए किसी मरीज की सर्जरी की जाए लेकिन कई बार ज्यादा दिक्कत आ जाती है. तो यह सर्जरी करनी पड़ती है. तो इस तरह की चीजों से आप इस दर्द से राहत पा सकते हैं.

आज हमने आपको इस पोस्ट में एक बहुत ही महत्वपूर्ण और फायदेमंद जानकारी बताइ यह जानकारी अगर आप ध्यान से पढ़ते हैं. तो निश्चय भी आपको इसका बहुत फायदा मिलेगा क्योंकि इस तरह कि यह दिक्कत आपके आसपास किसी भी आदमी में हो सकती है या आपके घर में भी किसी को हो सकती है. तो यह जानकारी आपके लिए बहुत फायदेमंद है तो आज मैंने इस पोस्ट में आपको साइटिका दर्द के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी विस्तार से बताई है. तो यदि आपको हमारे द्वारा बताई गई यह साइटिका दर्द साइटिका दर्द का इलाज Sciatica Dard Ka Ilaj साइटिका का दर्द साइटिका के दर्द का उपचार साइटिका के दर्द Sciatica Dard साइटिका दर्द के बारे में जानकारी आपको पसंद आए तो शेयर करना ना भूलें और यदि आपका इसके बारे में कोई सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते हैं.

No comments